मिस्टर केजरीवाल : रिंकू की हत्या वाला वीडियो दिखा या नहीं ??

 

असल में इतनी बार टीवी , रेडियो ,ऑटो , मेट्रो सब पर देखते सुनते हैं तो एकबारगी थोड़ा अलग सा लगता भी है लेकिन जैसे ही देखते कि , अंकित शर्मा जैसे जाबांज़ अधिकारी और देश के सच्चे सपूत को चाकुओं से गोद डालने से लेकर रिंकू शर्मा जैसे तरुण की पीठ में छुरा भोंके जाने जैसी तमाम वो वारदातें जिनमें किसी हिन्दू को क़त्ल कर दिया जाता है पर आँख मूँद कर , मुँह सी कर बैठ जाते हैं तोउसी समय आपका असली चरित्र , सत्ता प्रेम और वोटों केलिए तुष्टिकरण की वही घटिया राजनीतिक से लिथड़ा चेहरा दिखाई दे जाता है।

सीएम साब जी ,उस वक्त आपकी नकली ईमानदारी और शराफत उधड़ कर नीचे गिर जाती जब एक खास वीडियो में सिर्फ हिन्दू ही गुंडे अपराधी दिखाई देने लगते हैं आपको . अपनी दिल्ली के आपराधिक मुकदमों और जेलों में निरुद्ध अपराधियों , आरोपियों , विचाराधीन कैदियों को खुद कभी गिन कर , पहचान करके आइए न एक बार .

सड़ जी , आपने रिंकू की मॉब लिंचिंग वाला वीडियो , गलती से भी देखा तो नहीं न ?? जय श्री राम बोलने के कारण हत्या की गई है तो यकीनन ही आपके वोट बैंक का नहीं होगा इसलिए , हज़ार लाख करोड़ तो दूर , उसके माता पिता से मिल कर ढांढस देना तो दूर , संवेदना या चिंता का एक शब्द भी नहीं निकला मुँह से , इसी को मक्कारी और दोगलापन कहते हैं .

और फिर जरूरत ही क्या है कुछ कहने की ? बेकार में आपके अपने अमानतुल्ला से लेकर ताहिर हुसैन तक , शर्जील इमाम से लेकर उमर खालिद तक सब आपके अपने मुहल्ले , कुनबे और कैडर वाले लोग नाराज़ न हो जाएंगे . लेकिन याद रहे , ये देश सब कुछ देख भी रहा और समझ भी रहा है .

ताज़ा पोस्ट

देश छोड़ कर सालों पहले भाग गए अंग्रेज : हाय री किस्मत अब आ गए तैमूर और चंगेज़

विश्व की कुछ सबसे जरूरी महत्वर्पूण खगोलीय घटनाओं में से एक पिछले दिनों घटी जिसकी प्रतीक्षा कम से कम , खुद को नौटंकी बना...

तेल देखो और तेल की धार देखो

पेट्रोल 100 रुपए पार चला गया और ये कयामत से भी ज्यादा भयानक बात है . वो भी उस देश में जो कई बार...

कौआ उड़ , तोता उड़ : संसद में खेलता एक कबूतर बाज

संसद में हमेशा अपने अलग अलग करतबों से दुनिया को अपनी काबलियत का परिचय देने वाला गाँधी परिवार और कांग्रेस की सल्तनत के आखिरी...

आंदोलन के नाम पर अराजकता और हठधर्मिता : आखिर कब तक

चलिए ,सड़क ,शहर , लालकिले के बाद अब रेल की पटरियों पर आन्दोलनजीवी खेती किए जाने की मुनादी की गई है। संगठनों ने मिल...

हमरा भेलकम काहे नहीं हुआ जी : ई इंस्लट नहीं न चलेगा हो

लालू जी बब्बा तनिक बीमार क्या हुए , तेजस्वी भैया बस इत्तु से मार्जिन से चीप मुनिस्टर बनते बनते क्या रह गए , मने...

यह भी पसंद आयेंगे आपको -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ई-मेल के जरिये जुड़िये हमसे