आइये बागवानी शुरू करें

इस वर्ग में लिखी गई पोस्टों में  , यहाँ उपलब्ध कराई गयी जानकारियाँ ,  आदि मेरे पिछले एक दशक से अधिक समय से दिल्ली की एक फ़्लैट की छत पर की जा रही बागवानी के वो अनुभव हैं जो मैंने इस क्रम में सीखा और समझा | बागवानी में दक्ष नहीं कहूँगा हाँ पौधों का अच्छा दोस्त जरूर हो गया हूँ मैं | तो आइये शुरू करते हैं बागवानी करना :-

जो भी बागवानी शुरू करना चाह रहे हैं , यही सबसे उपयुक्त समय है | शुरू हो जाइये और जो भी उगना लगाना चाह रहे हैं फ़टाफ़ट लगा दें | मानसून की बारिश इन पौधों के लिए वही काम करती है जो बच्चों के लिए बोर्नवीटा या हॉर्लिक्स करते हैं |

पौधों को खाद पानी देने का भी यही उचित समय है , अभी बारिश की बूंदों के बीच वे जड़ों और मिटटी में खूब रच बस जाएंगे और और जैसे जैसे धूप नरम पड़ती जाएगी सब कुछ गुलज़ार हो उठेगा |

जिन पुराने पौधों में कलियाँ और नए पत्ते आते नहीं दिख रहे हैं उनकी प्रूनिंग के साथ साथ निराई गुड़ाई भी समय है | मानसून में तो धरती का सीना चीर कर हरा करिश्मा बाहर निकल जाता है तो जैसे ही आप उनकी कटिंग करके छोड़ देंगे अगले महीनों में वे कमाल का रंग रूप निखार लेंगे | जिन्हें गुलाब ,आम ,नीम्बू आदि की कलम लगानी आती है उनके लिए भी यही सबसे उपयुक्त समय है |

धनिया , साग , मेथी आदि को लगाने उगाने से फिलहाल परहेज़ ही करें अन्यथा अचानक कभी भी आने वाले तेज़ बारिश आपकी मेहनत पर पानी फेर देंगे |

शुरुआत में यदि बीज से खुद पौधे उगाने में असहज महसूस कर रहे हैं तो आसपास नर्सरी से लेकर आ जाएं | इस मौसम में बेतहाशा पौधों के अपने आप उग जाने के कारण अपेक्षाकृत वे आपको सस्ते और सुन्दर पौधे भी मिल जाएंगे |

बस….तो और क्या , हो जाइये शुरू अपने आस पास खुश्बू और रंग का इंद्रधुनष उगाने के लिए | कोई जिज्ञासा हो तो बेहिचक कहिये , अपने अनुभव के आधार पर जितना जो बता सकूंगा उसके लिए प्रस्तुत हूँ |

ताज़ा पोस्ट

सिरदर्दी का सबब : व्हाट्सएप ग्रुप

 इंसान अपने खुराफाती दिमाग के कारण हमेशा ही दोधारी तलवार की तरह सोचता और करता है | यही वजह है कि उपयोग के साथ...

सुशांत की मौत :एक न सुलझने वाला अपराध

आपको कुछ सालों पहले घटी घटना आरुषि तलवार हत्याकाण्ड अभी जेहन से पूरी तरह तो भुलाई नहीं जा सकी होगी | वही दिल्ली से...

बाढ़ बनाम बिहार : मुकदमा जारी है श्रीमान

गृह प्रदेश बिहार के साथ बहुत सारी विडंबनाएं जुड़ी हुई हैं और जितनी अधिक विडंबनाएं हैं उतनी ही ज्यादा बुरी स्थिति इस राज्य की...

आइये बागवानी शुरू करें

इस वर्ग में लिखी गई पोस्टों में  , यहाँ उपलब्ध कराई गयी जानकारियाँ ,  आदि मेरे पिछले एक दशक से अधिक समय से दिल्ली...

पढ़ेगा इण्डिया तो बढ़ेगा इण्डिया : नई शिक्षा नीति

मोदी सरकार हर क्षेत्र में ऐसे ऐसे क्रांतिकारी सुधारों पर लगातार इनमें सुधार का जो काम कर रही है वो अपरिहार्य और अद्वितीय है...

यह भी पसंद आयेंगे आपको -

2 COMMENTS

  1. काफी पौधे लगाए हैं, कुछ लगे हैं और कुछ सूख गए हैं। हालांकि पुराना अनुभव काम कर रहा है, बस पौधों के लग जाने की प्रतीक्षा है।

    • वाह बहुत ही खूबसूरत बात | हम सबको यही करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ई-मेल के जरिये जुड़िये हमसे