क्यों ठीक है न ???

 

default featured image for jha ji kahin

वो संसद पर ,मुंबई ,दिल्ली और जाने कितने शहरों में आतंक और मौत का नंगा नाच करते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो सेना पर ,पुलिस पर पत्थर बरसाते रहे ,
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो विश्वविद्यालयों में भारत के टुकड़े करने के मंसूबे के साथ जैसे करते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो बार बार हिन्दू धर्म ,मान्यताओं ,देवताओं का अपमान करते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो बार बार तिरंगे का ,वन्दे मातरम् का ,भारत माता की जय कहने का तिरस्कार करते रहे
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो रेल बस घर दफ्तर फूँकते रहे,सरकारी निजी सब कुछ जलाते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो सड़कों को घेर कर उनपर महीनों बैठ कर कानून पुलिस को ठेंगा दिखते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

आज वो , जानबूझ कर बीमारी के बीज लिए सबके बीच जहर बो रहे हैं ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

वो डाक्टरों ,नर्सों के सामने नंगे होकर अपनी तालीम दिखाते रहे ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

तुमने कहा बार बार कहा हर बार कहा ,हर मुसलमान आतंकी नहीं होता ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

तुमने कहा ,हर मुसलमान राष्ट्रदोही नहीं होता ;
तुमने कहा सब थोड़ी हैं उनमें शामिल ,सबको क्यों निशाना बनाया जा रहा है ,हमने कहा ठीक है

तुम सीधे सीधे ये क्यों नहीं कह देते की हर मुसलमान इंसान नहीं होता ; हम कह देंगे ठीक है

नहीं अब हम कुछ नहीं कहेंगे अब हम ठीक करेंगे और फिर कहेंगे कि ठीक है

क्यों ठीक है न ???

ताज़ा पोस्ट

सिरदर्दी का सबब : व्हाट्सएप ग्रुप

 इंसान अपने खुराफाती दिमाग के कारण हमेशा ही दोधारी तलवार की तरह सोचता और करता है | यही वजह है कि उपयोग के साथ...

सुशांत की मौत :एक न सुलझने वाला अपराध

आपको कुछ सालों पहले घटी घटना आरुषि तलवार हत्याकाण्ड अभी जेहन से पूरी तरह तो भुलाई नहीं जा सकी होगी | वही दिल्ली से...

बाढ़ बनाम बिहार : मुकदमा जारी है श्रीमान

गृह प्रदेश बिहार के साथ बहुत सारी विडंबनाएं जुड़ी हुई हैं और जितनी अधिक विडंबनाएं हैं उतनी ही ज्यादा बुरी स्थिति इस राज्य की...

आइये बागवानी शुरू करें

इस वर्ग में लिखी गई पोस्टों में  , यहाँ उपलब्ध कराई गयी जानकारियाँ ,  आदि मेरे पिछले एक दशक से अधिक समय से दिल्ली...

पढ़ेगा इण्डिया तो बढ़ेगा इण्डिया : नई शिक्षा नीति

मोदी सरकार हर क्षेत्र में ऐसे ऐसे क्रांतिकारी सुधारों पर लगातार इनमें सुधार का जो काम कर रही है वो अपरिहार्य और अद्वितीय है...

यह भी पसंद आयेंगे आपको -

4 COMMENTS

  1. बिल्कुल सही कहा। पहले ठीक करेंगे फिर पूछेंगे कि क्यों ठीक है न?

  2. हम तो कहते है पूछने की भी ज़रूरत नही की क्यों ठीक है की नही क्योंकि ठीक नही यह सटीक है ऐसा ही करने की ज़रूरत आन पड़ी है अब।

    • प्रतिक्रया के लिए आपका आभार और शुक्रिया पल्लवी जी। स्नेह बनाए रखियेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ई-मेल के जरिये जुड़िये हमसे