देश छोड़ कर सालों पहले भाग गए अंग्रेज : हाय री किस्मत अब आ गए तैमूर और चंगेज़

विश्व की कुछ सबसे जरूरी महत्वर्पूण खगोलीय घटनाओं में से एक पिछले दिनों घटी जिसकी प्रतीक्षा कम से कम , खुद को नौटंकी बना चुका मीडिया तो बड़ी बेसब्री से कर ही रहा था . और ये घटना थी नवाब साहब के यहां तैमूर के बाद पैदा होने वाले चश्मो चराग की .

आखिरकार वो दुर्लभतम क्षण भी आ ही गया और मिसेज नवाब बेबो को बेबी हुआ -यानी छोटे नवाब से एक और छोटा नवाब आ गया . पहले वाले छोटे नवाब साब का नाम बड़े ही भारी विचार विमर्श के बाद मुगलिया सल्तनत के परचम को फहराए रखने के लिए दुनिया के कुछ सबसे क्रूरतम और सनकी आक्रमणकारियों में से एक तैमूर लंग से प्रेरणा पाकर तैमूर रखा गया था .

अब जब तैमूरलंग के बाद एक छोटे नवाब और आ गए हैं और दुनिया में “यलगार हो ” का नारा ए तकबीर बुलंद किया ही जा रहा है तो सभी कयास लगा रहे कि यही सही वक्त है कि दुनिया को एक चंगेज़ खान तो अब मिलना ही चईये कि नई ???और आपके हाँ या न से असल में कोई फर्क भी नहीं पड़ने वाला क्योंकि चंगेज़ न आया तो बाबर , औरंगज़ेब कोई न कोई तो आएगा ही .

ताज़ा पोस्ट

देश छोड़ कर सालों पहले भाग गए अंग्रेज : हाय री किस्मत अब आ गए तैमूर और चंगेज़

विश्व की कुछ सबसे जरूरी महत्वर्पूण खगोलीय घटनाओं में से एक पिछले दिनों घटी जिसकी प्रतीक्षा कम से कम , खुद को नौटंकी बना...

तेल देखो और तेल की धार देखो

पेट्रोल 100 रुपए पार चला गया और ये कयामत से भी ज्यादा भयानक बात है . वो भी उस देश में जो कई बार...

कौआ उड़ , तोता उड़ : संसद में खेलता एक कबूतर बाज

संसद में हमेशा अपने अलग अलग करतबों से दुनिया को अपनी काबलियत का परिचय देने वाला गाँधी परिवार और कांग्रेस की सल्तनत के आखिरी...

आंदोलन के नाम पर अराजकता और हठधर्मिता : आखिर कब तक

चलिए ,सड़क ,शहर , लालकिले के बाद अब रेल की पटरियों पर आन्दोलनजीवी खेती किए जाने की मुनादी की गई है। संगठनों ने मिल...

हमरा भेलकम काहे नहीं हुआ जी : ई इंस्लट नहीं न चलेगा हो

लालू जी बब्बा तनिक बीमार क्या हुए , तेजस्वी भैया बस इत्तु से मार्जिन से चीप मुनिस्टर बनते बनते क्या रह गए , मने...

यह भी पसंद आयेंगे आपको -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ई-मेल के जरिये जुड़िये हमसे